डायरेक्ट सेलिंग छोड़ दी क्योंकि अपलाईन अच्छा नहीं था। SanjeevPrajapat

डायरेक्ट सेलिंग छोड़ दी क्योंकि अपलाईन अच्छा नहीं था। SanjeevPrajapat

Skipped direct selling because Upline is not good. किसी भी पुरानी लीडर से पूछो , आप पहले जो कंपनी कर रहे थे उसको क्यों छोड़ दिया । सामने से एक ही उत्तर आता है । कंपनी छोड़ दी क्योंकि अपलाइन ने बुरा भला बोल दिया। क्यों साहब, अपलाइन आपका रिश्तेदार है जो आपने उससे नाराज होते हुये मुँह फुलाकर कंपनी छोड़ने का फैसला कर डाला। तैयार रहना नेटवर्क व्यापार हो या कोई अन्य व्यापार सफलता के लिये अक्सर कड़वे घूट पीने पड़ते हैं। सुनना पड़ सकता है अपलाइन से भी , क्रॉसलाइन से भी और जमाने भर से भी। बिना सुने आज तक किसी को सफलता मिली हो ऐसा पता नही मुझे। जितना भी आज तक देखा सुना और पढ़ा है उसमें हर सफल आदमी ने अपने भयानक दौर से गुजरते हुये सफलता पाई है। अगर आप सिर्फ किसी की थोड़ी कड़वी बात को सुनकर कंपनी ही छोड़ देने का मन बनाते हो तो इसका मतलब है कि इस व्यापार में सफल होना आपके बस की बात नही रही।। कहीं भी जाओगे सुनना तो पड़ेगा। ऐसी बहुत सी बातें रोजाना आपके साथ होंगी जो आपको पसंद नही है।। अब आपके ऊपर निर्भर करता है कि इन बातों से आप टूट जाते हैं या फिर और अधिक मजबूत बन जाते हैं। कई बार आपको लगेगा कि आपका अपलाइन बहुत लालची है वह आपको कुछ भी समझाये उस बात में सिर्फ उनका लालच है।। तो ठीक है फिर आप खुद ही अपना रास्ता तैयार करना। ट्रेनिंग अटेंड करना और सीख लेना कि आगे कैसे काम करना है। बहुत से लोगों को नौकरशाही पसंद नही होती इसलिये वो नेटवर्क व्यापार में आकर स्वतंत्र रूप से काम करना चाहते है।। आप भी ना तो किसी की नौकरी करते हैं और ना ही कोई आपकी नौकरी करता है। आपको अगर मदद चाहिये तो उसमें आदेश नही बल्कि प्रार्थना होनी चाहिये।। अन्यथा लोग आपको अनदेखा कर देंगे। पैसे से बड़ा स्वाभिमान और इसी के चलते अक्सर दूरियां बन जाती हैं। नेटवर्क व्यापार में धैर्य सबसे बड़ी ताकत है अगर यह आपके पास है तो धीरे धीरे आपके सभी काम बनते चले जायेंगे और अगर धैर्य नही है तो छोटी मोटी बातें आपको बार बार भाग जाने की सलाह देंगी। किसी व्यापार में अगर 50 लाख लगाया होता तो शायद कई सालों तक भी आप फायदा होने का इंतज़ार करते।। तो फिर सोच लो कि आपने अपने नेटवर्क व्यापार में अपनी लाखो करोड़ो की फेसवैल्यू लगाई है और आप ऐसे ही किसी की कड़वी बातें सुनकर कंपनी नही छोड़ सकते। जिन कदमों ने आगे बढ़ जाना ही अपनी ज़िंदगी समझ लिया हो भला उन कदमों को रोक देने की मजाल किस दुश्मन में है।। फैसला आपका आगे बढ़ना है या पीछे लौट जाना है। संजीव प्रजापति लेखक :- डायरेक्ट सेलिंग एक वायरल युग की शुरुआत । लोकडाउन के वह २१ दिन www.sanjeevprajapati.in +91 7017392737

  • 0 like
  • 0 Dislike
  • 117
  • Share
  • 1304
  • Favorite
  • 24 November, 2020
Previous Next
feedback1

Coming Soon

DOWNLOAD MLM DIARY APP

appsicon